Latest Post

Metre Reader Vacancy 2024 SSC OTR Online Form 2024 RSMSSB Result 2024 Update SSC JE Online form 2024 RSMSSB CHO Answer key 2024 Oyo hotal new rule 2024 Kidnapping student in Kavya Dhakad Kota Rajasthan APO Bharti 2024 RSMSSB Anudeshk Bharti 2024 GHAR BAITHE PAISE KAISE KAMAYE Rajasthan anganwadi recruitment 2024 RSMSSB LDC Bharti 2024 4197 Post Delhi Home Guard Bharti 2023 Koo App kaise kamae paise with jackpot RSMSSB Animal Attendent Bharti Exam Date

2 दोस्तों के संग मिलकर तैयार की किडनेप की स्क्रिप्ट.. पिता के व्हाट्सअप पर अपने हाथ पैर और मुँह बंधे पिक भेज की 30 लाख की डिमांड.. इसके बाद की एक वीडियो से खुला राज़.. 2 दोस्तों संग टहलती दिखी काव्या.. एक दोस्त पकड़ा गया.. लड़की का सुराग नहीं

कोटा से अपहरण का एक हैरत अंगेज मामला सामने आया। इस मामले ने सभी के होश उड़ा दिए। शिवपुरी के बैराड़ के स्कूल संचालक के पास 18 मार्च को वॉट्सऐप पर बेटी काव्या धाकड़ के अपहरण की तस्वीरें आईं जिसमें काव्या धाकड़ के हाथ-पैर रस्सी से बंधे हुए थे और अपहरणकर्ता ने 30 लाख रुपये की फिरौती मांगी।
कोटा में छात्रा के अपहरण की घटना सामने आने पर हड़कंप मच गया और पुलिस मामले की गुत्थी को सुलझाने में जुट गई। जब पुलिस ने मामले की जांच तो सामने आया कि छात्रा ने कोचिंग सेंटर में दाखिला तक नहीं लिया। इसके अलावा परिजन जिस हॉस्टल में बिटिया काव्या के रहने की बात बता रहे हैं वहां से उसका कोई ताल्लुक तक नहीं है।

क्या है पूरा मामला?

जांच में जुटी पुलिस ने एक के बाद एक कई खुलासे किए और यह पता लगाया कि काव्या का अपहरण नहीं हुआ है और तमाम बातें झूठी हैं। छात्रा का अपहरण नहीं हुआ है और न तो वह कोटा में रह रही थी। काव्या ने अपने दो दोस्तों संग मिलकर अपहरण की झूठी स्क्रिप्ट तैयार की थी, क्योंकि वह और उसका एक दोस्त विदेश में पढ़ाई करना चाहते थे और उसके लिए पैसों की जरूरत थी।कोटा पुलिस ने छात्रा के साथ एक साथी को पकड़ा है, लेकिन अब तक गिरफ्तारी की बात नहीं स्वीकारी है, जबकि छात्रा और उसका एक साथी अभी पुलिस की पकड़ से बाहर हैं।

पुलिस ने उठाया राज से पर्दा…

बकौल कोटा पुलिस अधीक्षक डॉ. अमृता दुहन, छात्रा तीन अगस्त को अपनी मां के साथ कोटा आई और यहां पर एक कोचिंग सेंटर में दाखिला लेने के लिए रजिस्ट्रेशन फार्म लिया था और एक हॉस्टल में रहने का तय किया जिसके बाद उसकी मां उसी दिन लौट गई थी। इसके बाद छात्रा पांच अगस्त तक कोटा में रही और फिर इंदौर चली गई। पुलिस ने जब मामले की जांच की तो पता चला कि छात्रा के साथ कोई अपराध नहीं हुआ।

Prepared the script of kidnap along with 2 friends.. Sent a pic with her hands, legs and mouth tied on her father’s WhatsApp, demanding Rs 30 lakh.. After this, a video revealed the secret.. Kavya was seen walking with 2 friends.. Friend caught.. no trace of girl

A surprising case of kidnapping came to light from Kota. This matter shocked everyone. On March 18, the school director of Bairad, Shivpuri received pictures of the kidnapping of daughter Kavya Dhakad on WhatsApp, in which Kavya Dhakad’s hands and legs were tied with a rope and the kidnapper demanded a ransom of Rs 30 lakh.


When the incident of kidnapping of a student came to light in Kota, there was a stir and the police started solving the mystery of the case. When the police investigated the matter, it came to light that the student did not even take admission in the coaching centre. Apart from this, the family has no connection with the hostel where daughter Kavya is staying.

What is the whole matter?

The police involved in the investigation made several revelations one after the other and found out that Kavya was not kidnapped and all the things were false. The student was not kidnapped nor was she living in Kota. Kavya, along with two of her friends, had prepared a fake kidnapping script because she and one of her friends wanted to study abroad and needed money for thatKota police has arrested a companion of the student, but has not yet accepted the arrest, while the student and one of her companions are still out of the reach of the police.

Police exposed the secret…

According to Kota Superintendent of Police DrAmrita Duhan, a student, came to Kota with her mother on August 3 and took the registration form to take admission in a coaching center and decided to stay in a hostel, after which her mother returned on the same day. After this the student stayed in Kota till August 5 and then went to Indore. When the police investigated the matter, they found out that no crime had been committed against the student.

Telegram Join : Click Here

Kota #Shivpuri #Kavyadhakad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *